Women Empowerment Essay in Hindi | महिला सशक्तिकरण पर निबंध हिंदी में

दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में लिख कर देने वाले हैं महिला सशक्तिकरण पर निबंध हिंदी में अर्थात women empowerment essay in Hindi। आज के समय में महिलाओं को लेकर बहुत सारे कार्य किए जा रहे हैं इसलिए इस विषय पर निबंध लिखने के लिए दिया जाता है। तो चलिए शुरू करते हैं

100 शब्दों में महिला सशक्तिकरण पर निबंध Women Empowerment Essay in Hindi

महिला सशक्तिकरण का तात्पर्य यह है कि महिलाओं को और भी मजबूत और खुद का निर्णय लेने लायक बनाना है। प्राचीन काल में महिलाओं पुरुषों के कहने पर चला करती थी क्योंकि उस समय सिर्फ पुरुषों का ही चलता था। महिलाओं के ऊपर प्राचीन काल में पहले बहुत ही अत्याचार हुआ करते थे उनका शोषण बहुत किया जाता था और महिलाएं कुछ ना बोल पाती थी और ना ही कर पाती थी बस उस अत्याचार और शोषण को सहती रहती थी। इसलिए सरकार द्वारा यह अधिनियम लागू किया गया।

300 शब्दों में महिला सशक्तिकरण पर निबंध Women Empowerment Essay in Hindi

प्राचीन काल में महिलाओं क्यों पर इतना अत्याचार होता था कि वह यदि आज की महिलाओं के ऊपर होते उनकी मृत्यु हो जाएगी। महिला सशक्तिकरण अधिनियम को लागू करना बहुत ही आवश्यकता क्योंकि हमारा देश भले ही टेक्नोलॉजी में आगे बढ़ चुका हो लेकिन अभी भी हुआ प्राचीन प्रथाओं को ही मानता है। पहले के समय में महिलाएं अपने बारे में कुछ निर्णय नहीं ले पाती थी। उनके बारे में भी उनके पति या बड़े बुजुर्ग निर्णय लिया करते थे। उनको अपने जीवन को अपने हिसाब से जीने की आजादी नहीं थी।

प्राचीन काल में यदि किसी महिला का पति की मृत्यु हो जाती है तो उसे भी उसके पति के साथ जिंदा जला दिया जाता था। छोटे उम्र में ही महिलाओं की शादी करा दी जाती थी। इन सब को रोकने के लिए महिला सशक्तिकरण का निर्माण किया गया है जहां अब महिलाएं अपने जीवन अपने हिसाब से जी सकती हैं वह खुद अपने और अपने परिवार के बारे में निर्णय ले सकती हैं। जब से महिला सशक्तिकरण बना है तब से महिलाएं अपना निर्णय खुद ले सकती हैं वह आप अत्याचार कम शह रही हैं।

महिला सशक्तिकरण का एक सिंपल सा अर्थ है की महिलाओं को शक्तिशाली बनाएं जाए। ताकि वह अपने जीवन का निर्णय स्वयं ले सके। आज के समय में हर क्षेत्र में महिलाएं आगे हैं क्योंकि वह अपने जीवन का निर्णय खुद ले रही हैं यदि यह महिला सशक्तिकरण नहीं होता तो महिलाओं के जीवन का निर्णय पुरुष ही लिया करते थे तब वे अभी घर में काम कर रही होती लेकिन महिलाएं स्वयं के बारे में निर्णय लेकर आज स्वयं को एक सफल महिला बना चुके हैं।

हमारे देश में प्रतिदिन किसी न किसी महिला का रेप किया जा रहा है। इन सब के खिलाफ आवाज उठाने के लिए महिला सशक्तिकरण हमेशा आगे रहते हैं और इसीलिए उनका निर्माण किया गया है।

500 शब्दों में महिला सशक्तिकरण पर निबंध Women Empowerment Essay in Hindi

महिलाएं सभी के घरों में होती हैं जो कि महिला के बिना हमारा जन्म ही नहीं होगा। लेकिन फिर भी कुछ पुरुष महिलाओं पर इतना अत्याचार करते हैं कि जैसे पुरुषों के बिना महिलाएं कुछ भी नहीं है। प्राचीन समय में घर में चाहे जितनी महिलाएं हो यदि घर में एक भी पुरुष है तो वह उन सभी महिलाओं के लिए निर्णय लेगा क्योंकि महिलाओं को स्वयं के बारे में निर्णय लेने का अधिकार नहीं दिया गया था।

आज के समय में हमारा देश टेक्नोलॉजी में इतने आगे बढ़ चुका है लेकिन फिर भी हमारे देश के निवासियों की सोच अभी भी प्राचीन समय की ही है वह महिलाओं को अभी भी कमजोर समझते हैं। जो महिला तुम्हे जन्म दे सकती है वह कमजोर कैसे हुई यह बात पुरुषों को नहीं समझ में आती थी लेकिन अब महिला सशक्तिकरण के द्वारा बहुत सारे पुरुषों को महिला के लिए जागरूक कराया गया है अब धीरे-धीरे लोगों की सोच बदल रही है महिलाओं के लिए। अब हर क्षेत्र में महिला और पुरुषों को समान अधिकार दिया जाता है।

प्राचीन समय में ऐसा नहीं था । महिलाओं को घर का काम और पुरुषों को बाहर के काम करने की अनुमति थी। प्राचीन समय में कई सारी ऐसी प्रथाएं थी जहां पर महिलाओं के साथ बहुत अत्याचार किया जाता था जैसे यदि किसी महिला का पुरुष मर जाता था तो उसे भी उसी के साथ जिंदा जला दिया जाता था। महिलाओं की कम उम्र में ही शादी करा दी जाती थी। आज के समय में भी पिछले सोच रखने वाले बहुत सारे ऐसे मनुष्य हैं। पहले के समय में महिलाओं को समाज में पुरुषों जितना मान सम्मान नहीं दिया जाता था। लोग उनको मारा पीटा करते थे।

लेकिन अब महिला सशक्तिकरण की वजह से बहुत सारे लोगों का दिमाग में परिवर्तन आया है और वह महिलाओं का मान सम्मान करने लगे हैं एवं उनको सभी क्षेत्रों में समान अधिकार देने लगे हैं। जिस स्थान पर महिलाओं की आवश्यकता होती है वहां पर महिलाओं को भी मौका दिया जाता है। अब किसी भी क्षेत्र में महिलाएं पुरुषों से कम नहीं है वह पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर उनका साथ दे रही हैं। जिस वजह से हमारा देश अब और भी तरक्की के मार्ग पर निकल चुका है।

एक महिला के ऊपर कई सारी जिम्मेदारियां होती हैं जैसे बच्चे पति फैमिली और समाज का भी ध्यान रखना पड़ता है। महिला सशक्तिकरण से महिलाओं को कई सारे अधिकार दिए गए हैं जैसे यदि किसी और स्थान पर उन्हें कुछ गलत करते हुए दिखे तो वह उसके खिलाफ आवाज उठा सकती हैं। कन्या भ्रूण हत्या पर भी रोक लगाया गया है यदि ऐसा कोई करता है तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

अब महिलाओं को भी संपत्ति में पूरा अधिकार है कि उनको भी संपत्ति बराबर मिले। महिला सशक्तिकरण की वजह से बहुत सारी चीजें कम हो गई है जैसे महिलाओं का रेप, कन्या भ्रूण हत्या, महिलाओं को उनके पति के साथ जिंदा जला देना इत्यादि।

निष्कर्ष
इस ब्लॉग से निष्कर्ष निकलता है कि अब महिलाओं को भी पुरुषों जितना सेम अधिकार मिल चुका है वह अपने जीवन का निर्णय स्वयं ले सकती हैं।

दोस्तों अभी मैंने आपको लिखकर दिया women empowerment essay in Hindi। यदि यह विषय आपको पसंद आया हो तो अन्य किसी विषय पर भी निबंध लिखने के लिए आप हमें सुझाव दे सकते हैं हम आपके सुझाए गए विषय पर अवश्य ही निबंध लिखेंगे।

Leave a Comment