Flood Essay in Hindi | बाढ़ पर निबंध हिंदी में

दोस्तों आज हम आपको इस ब्लॉग में लिख कर देंगे बाढ़ पर निबंध हिंदी में अर्थात flood essay in Hindi। बरसात के मौसम में कभी ना कभी किसी गांव या शहर में अवश्य बाढ़ आती है इसलिए इस विषय पर हमें हमारे स्कूल में बहुत ही * निबंध लिखने के लिए दिया जाता है। तो चलिए शुरू करते हैं

100 शब्दों में बाढ़ पर निबंध Flood Essay in Hindi

बाढ एक ऐसी प्राकृतिक आपदा है जो हमें बरसात के मौसम में अक्सर देखने को मिल जाती है। जब बरसात के मौसम में नदियों एवं तालाबों का पानी जरूरत से ज्यादा बढ़ जाता है तब उसके आसपास रहने वाले गांव में उन नदियों का पानी घुसने लगता है जिससे बहुत की हानि होती है वहां पर रहने वाले मनुष्य को। बढ़ाने की वजह से कई लोगों के घर बर्बाद हो जाते हैं उनमें रखे खाने-पीने के सामान भी खराब हो जाते हैं एवं कई लोगों की जानें भी चली जाती है।

300 शब्दों में बाढ़ पर निबंध Flood Essay in Hindi

वर्षा ऋतु में जब अधिक वर्षा हो जाती है तब बढ़ाने की संभावना अधिक हो जाती है। बाढ़ आने की संभावना उस क्षेत्र में अधिक होती है जो क्षेत्र नदियों के यह समुद्र के किनारे बसे हुए होते हैं। बाढ़ आने की वजह से बहुत सारे लोगों को अपने घर से बेघर हो जाते हैं क्योंकि उनका घर बाढ़ में बह जाता है।

बाढ़ आने की वजह से बहुत ही जान एवं धन की हानि होती है कई सारे लोग बाढ़ में बह कर उनकी मृत्यु हो जाती है। बहुत सारे किसानों की फसल खराब हो जाती है और वह जो अपने घर में अनाज इकट्ठे करके रखे रहते हैं आने वाले समय में उसका इस्तेमाल करने के लिए वह भी बाढ़ के पानी के साथ खराब हो जाता है। बाढ़ आने से बहुत सारी बीमारियां भी फैलती है क्योंकि जब एक जगह पर कई सारे कचरे इकट्ठा रहते हैं और बाढ़ आती है तो वह बाढ़ के पानी के साथ बैठकर अन्य स्थानों पर पहुंच जाते हैं जिस वजह से कई तरह की बीमारियां खेलना शुरू हो जाती है।

बाढ़ आने की वजह से कई सारे पेड़ पौधे जड़ से उखड़ कर गिर जाते हैं और कई बार ऐसा होता है कि पेड़ उखड़ने की वजह से कई सारे लोगों के घर उड़ जाते हैं एवं कई लोग उस पेड़ के नीचे दब कर मर जाते हैं। जब वर्षा ऋतु हमारे देश में आती है एवं आवश्यकता से अधिक वर्षा होने पर नदियों के पानी के अंदर उनके निजी स्तर से बढ़ जाते हैं और उनके आसपास बसे क्षेत्रों में उनका पानी घुस जाता है जिस वजह से बाढ़ आती है। बाढ़ आने की वजह से कई सारे लोग कई दिनों तक भूखे रहते हैं और भूख से ही उनकी मृत्यु हो जाती है।

500 शब्दों में बाढ़ पर निबंध Flood Essay in Hindi

बाढ़ एक प्राकृतिक आपदा है जो हमें वर्षा ऋतु में ही देखने को मिलती है क्योंकि जब वर्षा ऋतु में आवश्यकता से अधिक वर्षा होती है तब नदियों का पानी उनके निजी स्तर से बढ़कर आसपास के क्षेत्रों में घुसना शुरू कर देता है जिस वजह से बाढ़ आती है। जब बाढ़ नदियों के किनारे बसे क्षेत्रों में आती है तब उन सभी को बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ता है कई सारे बच्चे पानी में बह भी जाते हैं।

बाढ़ आने की वजह से क्षेत्र में कई सारी समस्याओं का उत्पादन होता है जैसे कई दिनों तक बिजली का ना आना कई सारे लोग बाढ़ आने की वजह से कई दिनों तक भूखे ही रह जाते हैं क्योंकि उनके सारे अनाज एवं खाने की सामग्री पानी में बह जाती है। जब बाढ़ आता है तो इससे ना केवल मनुष्य एवं जानवरों को भी बहुत सारी समस्याएं होती हैं। जानवर तो छोटे होते हैं जिस वजह से वह पानी के साथ बह जाते हैं और कई बार उनकी मृत्यु हो जाती है पानी में डूब कर।

बाढ़ क्षेत्र में आती है वहां पर कई तरह की बीमारियां भी फैलना शुरु कर देती है क्योंकि जब हम मनुष्य किसी एक स्थान पर कचरे को इकट्ठा करते हैं तो वह वहीं पर रहते हैं और जब बाढ़ आती है तो वह बाढ़ के पानी के साथ बैठकर इधर-उधर फैल जाते हैं। फिर जब वह कई दिनों तक पानी की वजह से सर जाते हैं तो उसमें कई तरह की कीड़े मकोड़े पनपते हैं जैसे मच्छर मक्खियां। मच्छरों की वजह से कई तरह की बीमारियां फैल रही है जैसे मलेरिया हैजा इत्यादि बहुत ही तेजी के साथ खेलना शुरू होते हैं।

कई बार वह लोग बाढ़ के पानी में बह जाते हैं जो तैरना नहीं जानते और वह अपने घर परिवार से अलग हो जाते हैं जिससे उनको कई तरह की समस्याएं होती हैं और उनके घर परिवार को बहुत ही तकलीफ पहुंचती है उनके दूर हो जाने से। कई बार बाढ़ के पानी का बहाव इतना अधिक होता है कि उसके बाहों में जितने भी पेड़ पौधे आते हैं वह जड़ से उखड़ कर टूट जाते हैं और नीचे गिर जाते हैं कई बार ऐसा होता है कि उस वृक्ष के नीचे किसी मनुष्य का घर या कोई मनुष्य स्वयं पड़ जाता है जो उसके नीचे दबकर मर जाता है।

बढ़ाने की एक सबसे बड़ी वजह यह है कि नदियों के ऊपर जो पुल बांधे गए हैं पानी कट करने के लिए अधिक वर्षा हो जाने की वजह से वह बांध जब टूटते हैं तो एक साथ पानी का बहाव किसी एक क्षेत्र में घोषणा शुरू कर देता है जिस वजह से उस पानी का बहाव भी बहुत अधिक तीव्र होता है और उस क्षेत्र में आने वाले सभी पेड़ पौधे एवं घर और साथ ही मनुष्य भी उस पानी में बह जाते हैं। बाध टूटने से उसमें इकट्ठे पानी एक साथ उससे नीचे उतरते हैं जिस वजह से बाढ़ आने की संभावना बढ़ जाती है।

निष्कर्ष
इस ब्लॉग से यह निष्कर्ष निकलता है कि बाढ़ एक प्राकृतिक आपदा है और वह हमेशा वर्षा ऋतु में ही आती है और जब वह आती है तो उससे कई तरह की समस्याएं उत्पन्न होती हैं और कई लोगों को जन एवं धन की हार होती है।

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में flood essay in Hindi के बारे में लिख कर दिया। यद्यपि आपको या विषय पसंद आया हो तो आप अन्य विषय पर भी हमें सुझाव दे सकते हैं हम आप के बताए गए सुझाव पर अवश्य ही निबंध लिखें।

Leave a Comment