Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi | स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

दोस्तों आज मैं आपको इस ब्लॉग में लिख कर देने वाला हूं स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध अर्थात essay on swachh bharat abhiyan in hindi। यह विषय बहुत ही सामान्य विषय है किसी भी स्कूल या कॉलेज में निबंध लिखने के देने के लिए क्योंकि आज हमारा देश स्वच्छता की तरफ बढ़ रहा है इसलिए।तो चलिए शुरू करते हैं।

100 शब्दों में स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

हमारे देश में गंदगी बहुत ही बढ़ चुकी थी जिस वजह से कई सारी बीमारियां फैल रही थी इसलिए हमारे सरकार द्वारा यह निर्णय लिया गया कि हमें पूरे भारत को एकदम स्वच्छ और साफ बनाना है। जिस वजह से किसी को बीमारी ना हो और लोग स्वस्थ बने रहें। स्वच्छ भारत अभियान की वजह से कई सारे लोगों में भारत को स्वच्छ करने के लिए जागरूक हुए और हमारे देश को बहुत अधिक साफ सुथरा बना दिया गया है जिस वजह से अब बीमारियां कम होती जा रही हैं।

300 शब्दों में स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

स्वच्छ भारत अभियान हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्म दिवस पर शुरुआत किया गया था वह तारीख थी 2 अक्टूबर 2014। इस दिन स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की गई थी। हमारे देश में गंदगी अत्यधिक होने के कारण कई सारी तरह की बीमारियां हमारे देश में बहुत ही तेजी से साथ अपना घर भारत देश में बना रहे थे जिसको कम करने के लिए हमारे सरकार द्वारा यह अधिनियम लागू किया गया। सरकार द्वारा यह निश्चय किया गया था कि पूरे 5 साल के अंदर हमारे भारत देश को फुर्सत साफ एवं स्वच्छ बना दिया जाएगा जो काफी हद तक कारगर भी रहा।

स्वच्छ भारत अभियान द्वारा लोगों को जागरूक कराया गया कि वह अपने देश को स्वच्छ करने में मदद करें यदि हर मनुष्य अपने घर के आस-पास सफाई रखेगा तो हमारा पूरा देश साफ सुथरा एवं स्वच्छ बन जाएगा। स्वच्छ भारत अभियान में कई तरह के बातें लागू हुई जैसे खुले में शौच करना कचरे को इधर उधर ना फेंकना जानवरों एवं पशुओं को साफ सुथरा करने के लिए तलाब एवं नदियों में ना नहला कर खुद के हाथ से नहलाया जाए।

स्वच्छ भारत अभियान को कारगर साबित करने के लिए सरकार द्वारा बहुत सारे शौचालय बनवाए गए ताकि लोग खुले में शौच ना करके शौचालय का इस्तेमाल करें और गंदगी बाहर ना जाए। क्योंकि खुले में शौच करने से कई तरह की बीमारियां होती है जैसे मलेरिया हैजा इत्यादि। इन सभी बीमारियों का एक ही कारण है कि खुले में शौच करने से जो गंदी की उत्पन्न होती है उन पर मच्छर एवं मक्खियां बैठने के बाद हमें काटते हैं या हमारे भोजन पर बैठते हैं जिसे हम ग्रहण करते हैं फिर उनमें रहने वाले कीटाणु हमारे शरीर के अंदर प्रवेश कर जाते हैं और हमें इन तरह की कई बीमारियां उत्पन्न होने लगती है।

500 शब्दों में स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

स्वच्छ भारत अभियान की घोषणा हमारे प्रधानमंत्री डॉ मनमोहन सिंह द्वारा कर दी गई थी वह तारीख की 1 अप्रैल 2012। उस समय स्वच्छ भारत अभियान का नाम था निर्मल भारत अभियान जो काफी हद तक कारगर साबित नहीं हुआ और बंद हो गया। उसके बाद फिर से जब 2 अक्टूबर 2014 में इसे लागू किया गया तो यह बहुत हद तक कारगर साबित हुआ। इस अभियान का एक ही लक्ष्य की आज से 5 साल बाद अर्थात 2 अक्टूबर 2014 से लेकर 2019 तक पूरे भारत देश को पूर्णता स्वच्छ बनाना।

क्योंकि हमारे देश में लोग भारत को स्वच्छ बनाने के लिए जागरूक नहीं हुआ कहीं पर भी कूड़ा कचरा एवं शौच किया करते थे। स्वच्छ भारत अभियान द्वारा लोगों को जागरूक बनाया गया कि वह खुले में शौच ना करें एवं खुले में कूड़े कचरे को ना फेंके क्योंकि इससे कई तरह की बीमारियां उत्पन्न होती है जो हम मनुष्य के लिए ही खतरा बन सकती हैं।

इस अभियान के तहत सरकार द्वारा कई सारे शौचालय बनाए गए ताकि लोग खुले में शौच ना करके शौचालय का इस्तेमाल करें और गंदगी बाहर ना आने पाए। गांव के लोगों को स्वच्छ भारत अभियान के बारे में अधिक जागरूक किया गया क्योंकि वहां के लोगों को इतनी सुख सुविधाएं उत्पन्न नहीं होती है कि वह इतना साफ सफाई कर पाए इसलिए वह लोग गांव में शौच करने के लिए खेतों में जाया करते हैं जिस वजह से वहां पर बीमारियां फैलने के अधिक मौके होते हैं। इसलिए सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों को अत्यधिक सुविधा उपलब्ध कराई गई जैसे शौचालय बनवाना डस्टबिन रखवाला। यह सब करके वहां पर बहुत हद तक साफ सफाई कर दी गई है।

लोग बाहर खेतों में जाने के बजाय शौचालय का इस्तेमाल करते थे और किसी भी कचरे को इधर-उधर फेंकने से बचकर डस्टबिन में फेंका करते थे। इस अभियान के तहत हमारी गंगा नदी को साफ सुथरा बनाया गया जिस वजह से अब वहां का पानी एकदम सच्चा हो गया है। स्वच्छ भारत अभियान अब हमारे देश में बंद है क्योंकि यह सिर्फ 5 वर्षों के लिए ही चलाया गया था। इन 5 वर्षों में हमारे देश को काफी हद तक साफ सुथरा बना दिया गया था लेकिन अब फिर से गंदगी बढ़ने लगी है जिस वजह से दिल्ली में वायु प्रदूषण बहुत ही तेजी से फैल रहा है और वहां पर रहने वाले लोगों के सांस लेने में बहुत समस्या उत्पन्न हो रही है।

स्वच्छ भारत अभियान की वजह से ही आज हमारा देश शौचालय एवं साफ-सफाई को लेकर इतना जागरुक है कि वह कम से कम गंदगी अपने आसपास फैला रहा है और ज्यादा से ज्यादा साफ-सफाई रख रहा है। साफ सफाई रखने से लोग को का स्वास्थ्य अब बहुत ही सही रहने लगा है लोगों को बीमारियां कम हो रही हैं और लोग हेल्थी रहते हैं। इस अभियान का बहुत सारे लोगों ने प्रचार किया जैसे सचिन तेंदुलकर एवं कई सारे अभिनेता एवं अभिनेत्री ने भी इस अभियान का प्रचार किया मुझे इस वजह से और भी लोग स्वच्छ भारत अभियान के प्रति जागरूक हुए हैं।

निष्कर्ष
इस ब्लॉग से यह निष्कर्ष निकलता है कि इन 5 वर्षों में हमने हमारे देश को बहुत ही साफ सुथरा और स्वच्छ बना दिया है जिस वजह से अब हमें कई तरह की बीमारियां से बच गए हैं।

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में लिख कर दिया essay on swachh bharat abhiyan in hindi । यदि आप आपको यह विषय पसंद आया हो तो आप हमें अन्य विषय पर भी निबंध लिखने के लिए सुझाव दे सकते हैं हम आपके सुझाए गए विषय पर अवश्य ही निबंध लिखेंगे।

Leave a Comment