Essay on Pollution in Hindi | प्रदूषण पर निबंध

दोस्तों आज का हमारा विषय है प्रदूषण पर निबंध अर्थात essay on pollution in Hindi। हमारे देश में पोलूशन बहुत ही तेजी के साथ बढ़ रहा है इसलिए स्कूल एवं कॉलेजों में इस विषय पर निबंध लिखने के लिए दिया जाता है।
चलिए शुरू करते हैं

100 शब्दों में प्रदूषण पर निबंधEssay on Pollution in Hindi

प्रदूषण pollution आज हमारे देश में बहुत ही तेजी के साथ बढ़ रहा है जिससे हम मनुष्य एवं प्राणियों को कई तरह की समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं लेकिन यह प्रदूषण को फैलाने की वजह भी हम मनुष्य ही हैं। जल प्रदूषण वायु प्रदूषण एवं ध्वनि प्रदूषण ऐसे तीन तरह के प्रदुषण होते हैं जिस वजह से हम मनुष्यों को कई तरह की बीमारियां होती हैं। प्रदूषण हमारे देश में इतनी तेज इसी के साथ पड़ रहा है कि आने वाले समय में कुछ समय ऐसा आएगा जब इस धरती पर से प्रदूषण ही रहेगा और अन्य चीजें इस धरती पर नहीं बचेगी।

 300 शब्दों में प्रदूषण पर निबंध Essay on Pollution in Hindi

प्रदूषण pollution की वजह से कई तरह की बीमारियां हमारे देश में फैलती जा रही है। प्रदूषण धरती पर इतनी तेजी के साथ बढ़ रहा है कि आने वाला समय बहुत ही समस्याओं से भरा होगा क्योंकि बहुत तरह की बीमारियां भविष्य में प्रदूषण की वजह से फैली हुई। प्रदूषण 3 तरह के होते हैं जैसे जल प्रदूषण वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण। यह तीनों प्रदूषण मनुष्य आम प्राणियों के लिए बहुत ही खतरनाक है क्योंकि इनसे अलग अलग तरह की बीमारियां होती हैं।

जल प्रदूषण pollution का सबसे बड़ा वजह है कंपनियों एवं शब्दों में चलने वाले कार्य जिससे कई तरह की विषैले पदार्थ एवं केमिकल निकलते हैं और नदियों एवं समुद्र में जाकर मिलते हैं फिर वहां के जल को प्रदूषित कर देते हैं। फिर यह प्रदूषित जल जब वाष्पीकरण के वजह से आसमान में जाकर जलवाए में मिश्रित होता है तब उससे जलवा एवं वातावरण प्रदूषित हो जाते हैं। प्रदूषित जल में कई तरह के मच्छर एवं अखियां पनपते हैं जिस वजह से कई तरह की बीमारियां फैलती है। मच्छरों के काटने से मलेरिया हैजा एवं यदि हम गंदा पानी पी ले तो हमें पीलिया एवं अन्य तरह की बीमारियां भी होने लगती हैं।

वायु प्रदूषण भी इसी तरह कंपनियों में फैक्ट्रियों से निकलने वाले जहरीले धुएं की वजह से होता है जब ये जहरीले धुएं वायुमंडल में मौजूद गैसों में मिलते हैं तब वहां की जैसों को और भी दूषित कर देती है जिस वजह से वायुमंडल में वायु प्रदूषण होता है। इस वजह से कई तरह की बीमारियां होती हैं जैसे खांसी दमा इत्यादि। ध्वनि प्रदूषण के पीछे भी हम मनुष्यों का ही हाथ है जब अधिक तेजी से हमें गाने एवं साउंड को बजाते हैं तब ध्वनि प्रदुषण होता है, जिससे कई तरह की बीमारियां होती हैं जैसे दिल का दौरा पड़ जाता है। बहरापन आ जाना।

500 शब्दों में प्रदूषण पर निबंध Essay on Pollution in Hindi

आज के समय पर धरती पर pollution बहुत ही तेजी के साथ बढ़ता जा रहा है और इस प्रदूषण के बढ़ने की वजह हम मनुष्य है जिस वजह से कई तरह की बीमारियां फैल रही हैं और आने वाला समय और भी कठिन होता जा रहा है। प्रदूषण हम मनुष्य की वजह से बहुत ही तेजी के साथ वृद्धि कर रहा है। प्रदूषण की वजह से बीमारियां भी बहुत तेजी के साथ बढ़ रही हैं मुख्यतः तीन तरह की प्रदूषण होते हैं। एक होता है जल प्रदूषण दूसरा होता है वह प्रदूषण और तीसरा होता है ध्वनि प्रदूषण।

यह सभी प्रदूषण बहुत ही खतरनाक होते हैं मनुष्य एवं प्राणियों के लिए। वायु प्रदूषण आज के समय में बहुत ही तेजी के साथ बढ़ रहा है क्योंकि आज के समय में आधुनिक फैक्ट्री अब बहुत ही तेजी के साथ वृद्धि कर रही हैं और उनमें तैयार किए जाने वाले पदार्थ को बनाते समय जो जहरीले गैसे बाहर निकलती है तो वह वायुमंडल में मौजूद सभी गैसों में मिलकर वहां की व्हाई को दूषित कर देती है जिस वजह से मनुष्य को सांस लेने में समस्या उत्पन्न होने लगती है एवं अन्य तरह की बीमारियां उत्पन्न होने लगती है जैसे दमा खासी जैसी समस्या बहुत ही तेजी के साथ बढ़ती जा रही है।

कार गाड़ी बस जहाज एवं फ्रिज कूलर एसी इत्यादि ऐसी आधुनिक चीजें हैं जिसका हम मनुष्य बहुत अधिक तेजी से इस्तेमाल कर रहे हैं जिस वजह से वह प्रदूषण और भी तेजी से बढ़ रहा है। क्योंकि इन आधुनिक सामानों से जहरीले धुआं निकलते हैं जो वायुमंडल में जाकर वहां की गैसों को दूषित करते हैं वह प्रदूषण का असर सिर्फ मनुष्य ऊपर ही नहीं बल्कि अन्य प्राणियों पर भी।

जल प्रदूषण की वजह से भी कई तरह की समस्या उत्पन्न होती हैं और जल प्रदूषण फैक्ट्रियों में बनने वाले सामानों के निकलने वाले जहरीले पदार्थ एवं केमिकल जब समुद्र एवं नदियों के पानी में जाकर मिलते हैं तब वहां के पानी को दूषित कर देते हैं।एवं तालाबों के पानी को गंदा करने के लिए मनुष्य उसमें कपड़े धोते हैं नहाते हैं एवं अपने जानवरों को भी नहीं लाते हैं जिस वजह से आसपास के तालाबों का पानी और भी तेजी से गंदा होता जा रहा है। गंदे पानी में मच्छर एवं मक्खियां पनपते हैं जो हम मनुष्य के लिए बीमारी का कारण बनते हैं। मच्छरों के काटने से मलेरिया डेंगू जैसी खतरनाक बीमारी हम मनुष्य को हो सकती है।

ध्वनि प्रदूषण के लिए मनुष्य अधिक तेजी के साथ गाने बजाता है जिस वजह से धन प्रदूषण होता है लेकिन उसे इस बात का अंदाजा नहीं होता वह अब पढ़ने के लिए तेज तेज से गाने बजाता है इस ध्वनि प्रदूषण की वजह से कई सारे लोगों को समस्या उत्पन्न होती हैं। कई लोगों को दिल का दौरा एवं कई को बहरेपन की समस्या उत्पन्न हो जाती है यह बहुत ही खतरनाक बीमारियों का एक कारण है। यदि हम उनसे चाहे तो इन पर दूसरों को रोक सकते हैं क्योंकि हम मनुष्य ही इस प्रदूषण को फैला रहे तो हम इसे रोक भी सकते हैं।

निष्कर्ष

इस ब्लॉग से यह निष्कर्ष निकलता है कि जितने भी तरह के प्रदूषण है वह हम मनुष्यों के लिए बहुत ही खतरनाक है और इनसे कई तरह की बीमारियां उत्पन्न होती हैं।

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लाग में लिख कर दिया Essay on pollution in Hindi। यदि आपको या विषय पसंद आया हो तो आप हमें अन्य विषय पर भी सुझाव लिखने का दे सकते हैं हम आपके दिए गए सुझाव पर अवश्य निबंध लिखेंगे।

Leave a Comment