Essay on Dog in Hindi | कुत्ते पर निबंध

आज का हमारा विषय है वफादार जानवर कुत्ते पर निबंध अर्थात Essay on dog in hindi। हमें कई बार जानवरों पर लिखने के लिए स्कूलों में निबंध दिए जाते हैं जिसमें से वफादार जानवर कुत्ते के बारे में लिखने को दिया जाता है। तो चलिए शुरू करते हैं

100 शब्दों में कुत्ते पर निबंध Essay on Dog in Hindi

कुत्ता एक बहुत ही वफादार जानवर होता है जो हर मनुष्य के घरों में लगभग पाए जाते हैं। बहुत सारे लोग कुत्तों को अत्यधिक प्रेम करते हैं। कुत्ता एक पालतू जानवर है जिस वजह से कई सारे लोग इसे अपने घरों पर पालते हैं। जानवर के पास चार टांगे होती है जो इसे तेज भागने के लिए बहुत मदद करते हैं। कुत्ते की दांत बहुत दिनों के लिए और तेज होते हैं जिस वजह से वह अपने शिकार को बहुत ही आसानी के साथ फाड़ कर खा सकते हैं। कुत्ता घर की रखवाली करता है। वह एक अच्छे चौकीदार का काम करता है।

300 शब्दों में कुत्ता पर निबंध Essay on Dog in Hindi

कुत्ता एक वफादार और पालतू जानवर है। कुत्तों में अलग-अलग तरह के ब्रांड होते हैं। जो लोग कुत्तों को बहुत पसंद करते हैं वह अच्छे ब्रांड के कुत्ते को अपने घरों में पाला करते हैं। German shepherd Doberman Bulldog pug जैसे ब्रांड के कुत्ते अत्यधिक प्रसिद्ध है। कुत्तों के पास चार टांगे होती हैं जो उनको तेज भागने में अत्यधिक मदद करती है। कुत्तों के दाते बहुत नुकीले और धारदार होते हैं जिस वजह से वह अपने शिकार को बहुत ही आसानी के साथ फाड़ सकते हैं।

कुत्ता ही एक ऐसा जानवर है जो सबसे पहले मनुष्य द्वारा पाला गया था यह अपने मालिक के प्रति बहुत ही वफादार होता है जिस वजह से लोग इसे पालने के लिए हमेशा तत्पर रहते हैं। हर मनुष्य चाहता है कि वह अपने जीवन काल में अच्छे ब्रांड के कुत्ते को अवश्य ही पाले। कुत्ते संवाद करने के लिए अलग अलग तरह से इशारे किया करते हैं जो कुत्ते पाले हुए रहते हैं वह काफी समझदार और अपने मालिक के कार्य करने के प्रति वफादार होते हैं। कई सारे कुत्ते इस तरह होते हैं कि वह अपने मालिक के द्वारा दिए गए कार्य को बहुत ही आसानी के साथ समझ कर उसे पूर्ण किया करते हैं।

कुत्ते की उम्र इस धरती पर अत्यधिक नहीं होती वह ज्यादा से ज्यादा 20 वर्ष तक की आयु तक ही जिंदा रह सकता है। यह भी कुत्ते के ब्रांड एवं आकार पर निर्भर करता है कई सारे कुत्ते इस वर्ष के आयु तक होने से पहले भी मृत हो जाते हैं और कुछ कुत्ते इस उम्र के बाद भी जीवित रहते हैं। कुत्ता जब घर की रखवाली कर रहा होता है तब वह किसी अन्य मनुष्य को उसके मालिक के घर में घुसने नहीं देता है जब उसका मालिक उसे अंदर आने के लिए ना बोल दे।

500 शब्दों में कुत्ता पर निबंध

कुत्ता एक ऐसा जानवर है जो मनुष्य द्वारा सर्वप्रथम पहला गया था और यह इतना वफादार होता है कि तब से इस जानवर को लोग पालते चले आ रहे हैं। लगभग पिछले 20 सालों से लोग कुत्तों को और भी अधिक पालना शुरू कर दिए हैं क्योंकि इसकी वफादारी और अपने मालिक के प्रति कार्य करने की क्षमता से लोग इसे अत्यधिक पसंद करने लगे और यह अब बहुत पाला जाने लगा है।

किस जानवर के पास चार टांगे होती है जो इसे तेज भाग के अपने शिकार को पकड़ने में बहुत मदद करती है। यह अपनी टांगों की वजह से ही इतना तेज़ भाग के किसी भी मनुष्य या अपराधी की पकड़ सकता है। कुत्तों में सूंघने की शक्ति इतनी अत्याधिक होती है की यद्यपि वही किसी को एक बार सूंघ ले तो उस मनुष्य को वह किही से भी ढूंढ के निकाल सकता है। अब कुत्तों का इस्तेमाल पुलिस भी करने लगे है अपराधियों को ढूंढने के लिए। जिस वजह से अब पुलिस ओं का काम बहुत आसान हो गया है किसी भी अपराधी को पकड़ने के लिए।

कुत्तों की नियुक्ति अब हवाई अड्डा पुलिस आर्मी एवं स्कूलों में भी की जाने लगी है। आर्मी में रहने वाले कुत्तों की श्रद्धांजलि बहुत ही आदर के साथ दी जाती है। जब तक कुत्ते जीवित रहते हैं तब तक वह अपने मालिक पर किसी भी तरह का हमला या आक्रमण होने से उनको बचाते रहते हैं। इनको खाने के लिए कुत्तों का भोजन आता है कई सारे लोग अपने कुत्तों को वह भोजन खिलाते हैं एवं कई लोग अपने कुत्तों को मांसाहारी भोजन देते हैं। और कई लोग इसे सादा भोजन प्रदान करते हैं। कुत्तों के लिए उनके मालिक से बढ़कर और कुछ नहीं होता।

कुत्ते सर्वाहारी भोजन करते हैंं ।जिस वजह से इस को पालने वाले मालिकों को इससे खिलाने पिलाने में किसी भी तरह की समस्याएं उत्पन्न नहीं होती इसलिए यह जानवर लोगों द्वारा अत्यधिक पाला जाता है। गांव में कुत्तों के पालने का इतना प्रचलन नहीं है लेकिन शहरों में कुत्तों को अत्यधिक पाला जाता है क्योंकि वहां के लोगों का कुत्ते पालने का शौक रहता है वह सभी अच्छे से अच्छे ब्रांड के कुत्ते अर्थात अच्छी नस्ल के कुत्ते पाला करते हैं। अलग-अलग नस्ल के कुत्तों के अलग-अलग कार्य होते हैं कई कुत्ते सुनने में एक्सपर्ट होते हैं एवं कई तेज भागने में एवं कुछ कुत्ते सिर्फ प्यार के लिए पाले जाते हैं जो छोटे और प्यारे लगते हैं।

मनुष्य की तरह यदि इन कुत्तों को भी प्रतिदिन व्यायाम एवं रणनीति सिखाई जाएगी तो यह कुत्ते भी मनुष्य की तरह चुस्त तंदुरुस्त एवं अपराधियों को पकड़ने के लिए और भी निपुण हो जाएंगे। कुत्तों के व्यायाम के लिए उनको प्रतिदिन पहला ना उनको दौड़ाना एवं सूंघने का परीक्षण करने सिखाना चाहिए जिससे वह बहुत ही आसानी के साथ इन सभी कार्यों में निपुण हो जाएंगे और आपको कई तरह के समस्याओं से बचाएंगे जब तक वह जीवित रहते हैं अपने मालिक पर एक भी समस्या नहीं आने देते।

निष्कर्ष

इस ब्लॉग से यह निष्कर्ष निकलता है कि कुत्ते बहुत ही वफादार और फुर्तीला होते हैं इनके जैसा पालतू जानवर अन्य कोई भी नहीं है और यह मनुष्य द्वारा प्रथम पालतू जानवर है। दोस्तों भी हमने आपको इस ब्लॉग में बताया essay on dog in Hindi। यद्यपि अभी से आपको पसंद आया हो तो आप हमें अन्य विषय पर भी निबंध लिखने का सुझाव दे सकते हैं।

Leave a Comment