Earthquake Essay in Hindi | भूकंप पर निबंध

दोस्तों आज का हमारा विषय है भूकंप पर निबंध अर्थात Earthquake Essay in Hindi। हमारे देश में वर्तमान समय में बहुत ही तेजी से भूकंप आ रहे हैं। प्रतिदिन भूकंप के संख्या बढ़ती जा रही है। इसलिए मैं आपको इस विषय पर निबंध लिख कर दूंगा। चलिए शुरू करते हैं

100 शब्दों में भूकंप पर निबंध Earthquake Essay in Hindi

पूरे ब्रह्मांड में पृथ्वी एक ऐसा ग्रह है जहां पर जीवन संभव है लेकिन यहां पर भी रहने वाले सभी जीवो पर खतरा मंडराता रहता है जिसमें से एक का नाम भूकंप है। एक खतरनाक प्राकृतिक आपदाएं। जिसमें कई तरह के नुकसान होते हैं यह भूकंप आता है तो। हमारी पृथ्वी का सतह जब कापता या हिलता है। उसी कंपन तो हम भूकंप कहते हैं। भूकंप की तीव्रता से आ जाए तो भारी नुकसान होता है बहुत सारे लोगों की जान चली जाती है बहुत सारे घर टूट कर बिखर जाते हैं। एक ऐसी प्राकृतिक आपदा है जिसे आने से कोई भी नहीं रोक सकता।

300 शब्दों में भूकंप पर निबंध Earthquake Essay in Hindi

भूकंप एक बहुत ही खतरनाक प्राकृतिक आपदाओं में से एक माना जाता है। प्राकृतिक आपदाएं कई तरह की होती है वह जब भी आती है तो हमेशा जन एवं धन की बहुत हान होती है। उसी तरह एक प्राकृतिक आपदा भूकंप भी है जिसके आने से कई लोगों की जान चली जाती है कई बच्चे अनाथ हो जाते हैं एवं कई लोग का घर टूट कर बिखर जाता है। प्राचीन समय में कई सालों एवं महीनों के बाद एक बार भूकंप आता था लेकिन आज का समय ऐसा हो चुका है कि प्रतिदिन एक भूकंप को मापा जा रहा है।

लेकिन प्रतिदिन भूकंप की तीव्रता तेज नहीं रहती वह बहुत कम होती है जिस वजह से किसी भी तरह का नुकसान नहीं होता लेकिन कभी-कभी इसकी तीव्रता इतनी अत्यधिक होती है कि कई तरह से लोगों की हानि होती है। भूकंप कीस स्थान एवं किस समय आएगा इस बात का पता लगा पाना बहुत ही मुश्किल होता है इसलिए भूकंप बहुत ही विनाशकारी रूप में आता है। यदि तीव्रता से भूकंप आ जाए तो बड़ी सी बड़ी इमारतें गिर जाती है।

हमारे देश में भी एक बार बहुत ही तीव्रता से भूकंप आया था जिस वजह से कई स्थानों पर बहुत नुकसान हुआ एवं सबसे अधिक नुकसान नेपाल में हुआ जहां पर कई लोगों की जाने चली गई एवं बड़ी से बड़ी इमारतें नीचे गिर गई। भूकंप ऐसी प्राकृतिक आपदा है जो अधिक तीव्र और कम तीव्र इसका अंदाजा स्थान पर निर्भर करता है। भूकंप का केंद्र बिंदु बहुत ही खतरनाक होता है उसके आसपास रहने वालों को बहुत समस्या होती है जैसे जैसे भूकंप बढ़ता जाता है वैसे वैसे उसकी तीव्रता कम होती जाती है इसलिए कई स्थान तक पहुंचने बहुत से भूकंप का अस्तित्व नष्ट हो जाता है।

500 शब्दों में भूकंप पर निबंध Earthquake Essay in Hindi

भूकंप आने का वजह भी हम धरती पर रहने वाले धरती वासी ही हैं। कई तरह के ऐसे कार्य किए जा रहे हैं जिस वजह से धरती का संतुलन बिगड़ रहा है और धरती में कंपन एवं हलचल होने की वजह से भूकंप आती है। भूकंप कई बार कई स्थानों पर बहुत ही तीव्रता के साथ आ जाती है जिस वजह से लोगों को बहुत नुकसान होता है। बकम एक बहुत ही खतरनाक प्राकृतिक आपदा है जो किसी भी वक्त धरती पर आ सकती है और इसके आने से बड़ी से बड़ी इमारतें एवं पूल टूट कर बिखर जाते हैं एवं उसके नीचे दबकर कई मनुष्यों एवं प्राणियों की जान निकल जाती है।

भूकंप ज्वालामुखी के फटने एवं विस्फोटकों की वजह से अत्यधिक आ रहे हैं कई स्थानों पर धरती के नीचे इतने बड़े बड़े विस्फोट किए जाते हैं कि उससे पूरी पृथ्वी में कंपन उत्पन्न हो जाता है और किसी एक बिंदु से भूकंप का आरंभ होता है जो बहुत ही खतरनाक एवं विनाशकारी साबित हो सकता है। वर्तमान समय में प्रतिदिन एक भूकंप को मापा जा रहा है जिसकी तीव्रता विनाशकारी तो नहीं बल्कि सामान्य रहती है जिस वजह से किसी भी तरह का जन धन की हानि नहीं होती है। कई बार भूकंप की तीव्रता इतनी तीव्र हो जाती है कि उसके आगे बड़ी से बड़ी इमारतें भी कुछ नहीं वह इन सभी को एक झटके में गिरा कर तोड़ सकती है।

भूकंप आने की वजह से पृथ्वी पर रहने वाले सभी प्राणियों को बहुत ही नुकसान होता है एवं भूकंप आने वाला है इस बात का पता लगाना भी बहुत ही मुश्किल है क्योंकि इस बात का किसी को भी पता नहीं कि किस वक्त एवं किस स्थान पर भूकंप आ सकता है। मुख्यतः भूकंप का रमसमुद्र के तलवों से होता है क्योंकि समुद्र के तल में कई तरह की हलचल होती है जिस वजह से बड़ा कंपन उत्पन्न होता है और इससे पूरे धरती को नुकसान पहुंचता है। भूकंप एक ऐसी प्राकृतिक आपदा है जिसका अंदाजा लगाना बहुत ही मुश्किल होता है वैज्ञानिकों के लिए किस किस स्थान पर भूकंप आएगा और कितनी तीव्रता से आएगा।भूकंप की तीव्रता भी उसके केंद्र बिंदु से तय की गई दूरी पर निर्भर करता है क्योंकि अत्यधिक दूरी पर भूकंप की तीव्रता कम हो जाती है क्योंकि जैसे-जैसे भूकंप आगे बढ़ता है उसमें उत्पन्न हुए कंपन धीरे-धीरे कम होने लगते हैं।

भूकंप उसी स्थान पर अत्यधिक तीव्रता से आता है जहां पर पृथ्वी की परत बहुत कम मोटी है या फिर उस स्थान के आजू-बाजू किसी भी तरह का ज्वालामुखी कहो ना। पृथ्वी की परत एवं सताए जितनी भी पतली होगी उतनी ही तीव्रता से भूकंप उस स्थान पर उत्पन्न होगा और उतना है विनाशकारी एवं खतरनाक होगा। समुद्र से अधिक ऊंचाई वाले राज्यों एवं देशों पर भूकंप का असर उतना तीव्रता से नहीं होता जितना समुद्र के तट क्षेत्रों में होता है। नेपाल में भी एक बार इतनी तीव्रता से भूकंप आया था कि बड़ी से बड़ी इमारतें गिर गई थी एवं कई लोगों की जाने चली गई थी

निष्कर्ष

इस ब्लॉग से निष्कर्ष निकलता है कि भूकंप बहुत ही खतरनाक एवं विनाशकारी प्राकृतिक आपदाएं इसका अंदाजा लगा पाना आप सभी के लिए मुश्किल है कि यह कब एवं किस स्थान पर कितनी तीव्रता के साथ आ सकता है। भूकंप बहुत ही विनाशकारी साबित हो सकता है

दोस्तों अभी हमने आपको इस ब्लॉग में लिख कर दिया, Earth quake essay in hindi। यदि आप चाहते हैं कि हम अन्य विषय पर भी आपको निबंध लिखकर दे तो आप कमेंट कर सकते हैं।

Leave a Comment